Breaking

Tuesday, September 10, 2019

Latest Two Line Shayari 2019

Best two line love shayari

चुपके से सिसकियां भरी और चल दिया काम पर,

वो मर्द था, उसे रोने की इजाज़त नहीं थी..!!



सफेद झूठ बोलती थी वो ,
वो भी लाल लाल होटो से


तुम्हारी बात लम्बी है दलीलें है बहाने हैं..!
हमारी बात इतनी है हमारी जिंदगी हो तुम..!!

अपनी कलम से दिल से दिल तक की बात करते हो
सीधे सीधे कह क्यों नहीं देते हम से प्यार करते हो



मेरी तीन ही मस्ले है

चाय ,शायरी ओर तुम ...


शहरे वफा मे किसको हम अहले वफा कहें..
हमसे गले मिला तो बस वही बेवफा मिला..


मैं लव हूँ पर मेरी बात तुम हो..!
और मैं तब हूँ जब मेरे साथ तुम हो..!!

दुनिया फ़रेब करके हुनरमंद हो गई,
हम ऐतबार करके गुनाहगार हो गए।



गुजरा हैं मोहब्बत में कुछ ऐसा भी ज़माना..

रूठा हूँ अगर तो मनाया था हमे भी किसी ने..




दिल से दिल मिले या न मिले हाथ मिलाओ,
हमको ये सलीका भी बड़ी देर से आया।




रूठ गए वोह, तो रूठ जाने दो
ज़रा सी बात है, बढ़ जाएगी मनाने में


उम्र होती है पुरानी हर दिन...
तजुर्बा रोज़ नया होता है...!!




मैं कि काग़ज़ की एक कश्ती हूँ
पहली बारिश ही आख़िरी है मुझे..



सफ़ेद-पोशी-ए-दिल का भरम भी रखना है
तिरी ख़ुशी के लिए तेरा ग़म भी रखना






पास वो मेरे इतने कि दूरियो का कोई एहसास नहीं..

फिर भी जाने क्यों वो पास होकर भी मेरे पास नहीं..




तू गुज़र जाए कभी क़रीब से
वो भी मुलाक़ात से कम नही




गिरना था जो आपको तो सौ मक़ाम थे,
ये क्या किया कि निगाहों से गिर गए।


किसे ख़बर है कि उम्र बस उस पे ग़ौर करने में कट रही है..
कि ये उदासी हमारे जिस्मों से किस ख़ुशी में लिपट रही है..



मिज़ाज में थोड़ी सख्ती लाज़िमी है हुज़ूर,
लोग पी जाते समंदर अगर खारा न होता !




ख़ुशी की आँख में आँसू की भी जगह रखना,
बुरे ज़माने कभी पूछकर नहीं आते







मुझसे जुड़ा हर शख़्स जानता है
उसके नाम को
मग़र उसकी महफ़िल में मेरी कोई पहचान नहीं..



मुझे तो न कोई आसमान चाहिये, मुझे तो न कोई जहाँ चाहिये..!
तू तो सितारों की एक महफ़िल है, बस उस पूरी महफ़िल में से बस एक तू चाहिए..!!

No comments:

Post a Comment