Breaking

Saturday, October 10, 2015

bewafa shayari


》 मुझसे अगर दुश्मनी भी करनी हो तो इरादे मजबूत रखना,
जरा सी भी चूक हो गयी तो मुहब्बत हो जायेगी..
》 इतना ‪‎कुछ‬ हो रहा है …
यार ‪दुनिया‬ में..
क्या तुम
‪मेरी‬ नही हो सकती….!!
》 ‎मतलब‬ की दुनिया है ….. इसलिये छोड़ दिया ‪सब से मिलना‬
वरना ये ‪ छोटी सी उम्र‬ ‪ ‎तन्हाई‬ के ‪ काबिल‬ तो ना थी…!!
》 ‪दुनिया‬ कब ‪ चुप रहती‬ है
‪कहने‬ दो जो ‪‎कहती‬ है….
》 कोई ‪प्यार‬ से ज़रा सी ‪फूँक‬ मार दे ……
तो ‪ बुझ जाउँगा मैं‬
‪‎नफ़रत‬ से तो ‪तूफान‬ भी  ‎हार‬ गये …. मुझे ‪बुझाने मे‬…
》 ये भी ‪अच्छा‬ है की ‪‎दिल‬ सिर्फ़ सुनता है
अगर ‪‎बोलता‬ तो ‪‎कयामत‬ होती
》 संग संग चलते रहे लगता था हममंज़िल हैं,
मोड़ आया तो पता चला सब राहों के मुसाफिर हैं..
》 अच्छा चलो एक काम करो…
अब सो जाओ…
सारा दिन..
मुझे नज़रअंदाज़ करते-2 थक गए होगे।
‪#‎ये_इश्क़‬
》 सुन ;
अगर तेरी मजबूरी हे, भूल जाने कि ,
तो मेरी आदत हे , तुजे याद रखने की ।
》 खुदा करे अब मुझे मेरी मंजिल ही ना मिले ..!!
बङी मुश्किल से तैयार हुई है वो साथ चलने को …!!
》 वो कहते है तुम दिल से नही सोंचते…दिल उन के पास है ,ये वो क्यों नही सोंचते.
》 तेरे ‪‎प्यार‬ का
🏻 ‪power‬ इतना ज्यादा है की किसी भी
लड़की को ‪‎prapose‬ किया तो साली ‪‎direct‬ ना ही बोलती ह…!!
》 जोडि भी मस्त बनायी उस भगवान
🏽 ने..!! वो मासुम सी sweet लड़की और में 😈 advance SmarT 🚶लड़का
》 गलतिया करने की आदत नहीं मुझे
…लेकिन तेरा प्यार से मुझे समझाना मुझे ‪#‎अच्छा‬ लगता है..
》 मै तो बस आपके साथ चलना चाहता था , पर आपने
बदनाम कर दिया, कि पीछा करता हू…
》 तेरी मेरी मोहब्बत का कारनामा जैसे Tom & Jerry वाला ड्रामा …
》 ▶ वो पगली हमारे🏻 hair style को देख कर बोली GUM में बाल🏻 कटवा लिये KyA..
》 झुकता वही है जिसमें जान होती है,
अकडना तो लाश की पहचान होती है।
》 आंसू मेरे देखकर तू परेशान क्यों है
ये वो अल्फाज हैं
जो जुबाऩ तक आ न सके……
》 अजीब लड़की थी वो, जिन्दगी बदलकर खुद भी बदल गयी
》 मोहब्बत उन से करो जिसे मोहब्बत का मतलब पता हो वर्ना यहाँ तो मोहब्बत के नाम पे लोग चहेरा बदलते हैं।
》 भूल‬ तो जाउँ तुझे मैं
लेकिन ‪‎मेरे पास‬ रहेगा क्या …
》है कोई वकील इस जहान में, जो हारा हुआ
इश्क जीता दे मुझको. …..
》वो मुजे नफ़रत करें या प्यार करें मैं तो एक
दीवाना हूँ. . ……..
》दिल मेरा कूछ टूटा हुआ सा है, उससे कूछ
रुठा हुआ सा है……
》मेरा होकर भी गैर की जागीर लगता है,
दिल भी साला मसला-ऐ-कश्मीर लगता
है……
》ख़ामोशी बहुत कुछ कहती हे कान लगाकर
नहीं , दिल लगाकर सुनो…….
》 फ़िक्र‬ करने वाले
नसीब वालो को ही मिलते है🏻
》 “मोहब्बत का असर मैं कुछ इस कदर जिन्दा कर देता हूँ …
दुश्मनो को भी गले लगाकर शर्मिन्दा कर देता हूँ …
》 कौन है इस जहाँ मे जिसे धोखा नहीं मिला,
शायद वही है ईमानदार जिसे मौक़ा नहीं मिला…
》 तुझे भूलने की कोशिशें कभी कामयाब न हो सकें;
तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब है, जो हवा चली तो महक गई!
》 दिल में मोहब्बत का होना जरूरी है……..
वर्ना याद तो रोज दुश्मन भी किया करते
है …….
》 लोगों के दिलो में अपना मुक़ाम इस तरह
बना लो के,
मर जाओ तो तुम्हारे लिए दुआ करे,.और
जिन्दा रहो तो तुमसे मिलने की दुआ करे.
》 ग़लतफ़हमियों के सिलसिले इस कदर फैले हैं…
कि हर ईंट सोचती है, दीवार उसी से है….
》 प्यार करके प्यार ही मिले ये
इत्तेफ़ाक़ भी किसी -किसी के साथ
होता है… …
》 चेहरे “अजनबी” हो
जाये तो कोई बात नही, लेकिन रवैये
“अजनबी” हो जाये तो बडी “तकलीफ” देते
हैं !
》 मंज़िलें तेरे अलावा भी कई है
लेकिन , ज़िन्दगी और किसी राह पे
चलती ही नहीं..!! …
》 मत किया कर ऐ
दिल किसी से मोहब्बत इतनी.. जो लोग
बात नहीं करते वो प्यार क्या करेंगे…!!
》 ना तोल मेरी
मोहब्बत अपनी दिल्लगी से देखकर मेरी
चाहत को अक्सर तराजु टुट जाते हैं …
》 बहुत ऐब सही मुझमे मगर एक खूबी
भी है,,,,, हम दिल से जिसे चाहते ह……उसे
कभी भी धोखा नही देत..
》 क्या हसीन इत्तेफाक़ था तेरी गली में आने
का….!! … किसी काम से आये थे, !! और
किसी काम के ना रहे….!! .
》 तुम्हारी नफरत पर भी लुटा दी ज़िन्दगी
हमने.. सोचो अगर तुम मोहब्बत करते तो हम
क्या करते…!!
》 हमे भी मिलेगा कोई टुट कर चहाने
वाला… अब पूरा शहर तो बेवफा नही
होता….

No comments:

Post a Comment